Click here for Myspace Layouts

Sunday, July 29

भाई बहन का पवित्र बंधन




भाई बहन का ये पवित्र त्यौहार पुरे  भारत वर्ष में बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है |बहने अपने भाई की कलाई पर राखी (रक्षा कवच )बाँधती हैं | ये कवच जहाँ भाई की तो रक्षा करता है  पर बहन की रक्षा करने की भी याद दिलाता है |पर आज कल इस त्यौहार की मात्र ओपचारिकता  ही रह गयी है  | वैसे बाज़ारों में खूब रौनक होती है |त्यौहार भी खूब धूम धाम से मनाया जाता है |आजकल टी वी पर और अखबारों में हर रोज  नई-नई ख़बरें आती रहती हैं |किसी दहेज़ लोभी ने विवाहिता को जला दिया, कोई सरेआम किसी लड़की को सडक पर नंगा कर रहा है ,ये बेशर्म ये नहीं सोचते की ये भी किसी की बहने होगी इन बहनों का  भी कोई भाई होगा, जो अपनी बहन को तुमसे भी ज्यादा प्यार करता होगा| आजकल इस राखी के पवित्र धागे में वो ताकत नहीं रही   ,या फिर भाइयों में इतनी ताकत नहीं रही की अपनी बहनों की रक्षा कर सके ,या समाज ही इतना गन्दा हो गया है की इतने पवित्र रिश्ते की अहमियत को भी नहीं समझ रहा है |
हमें इस पवित्र बंधन को दिल से मानना होगा तभी राखी बाँधने का मकसद सफल होगा |
........आप सभी को रक्षा बंधन की अग्रिम शुभकामनाएं.........

15 comments:

  1. हमें इस पवित्र बंधन को दिल से मानना होगा तभी राखी बाँधने का मकसद सफल होगा |
    आपने सही कहा,,,,,,

    रक्षा बंधन की अग्रिम शुभकामनाएं.........

    RECENT POST,,,इन्तजार,,,

    ReplyDelete
  2. जी सही कहा आपने,वैसे अब त्योंहार तो अब मार्केटिंग का एक जरिया भर रह गये हैं.

    रामराम

    ReplyDelete
  3. सुरेश भाई राम राम
    वक्त बदला है परन्तु लोगो की नीयत नहीं बदली है

    ReplyDelete
  4. कड़वी बात मगर सच्ची..........

    आपको भी पर्व की शुभकामनाएं.
    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  5. हार्दिक शुभकामनाएं.....

    ReplyDelete
  6. आपने सवाल तो सही उठाये हैं ....

    रब्ब की दुआ है मेरा भाई अब भी जान देता है मुझपर .....

    ReplyDelete
  7. सही कहा आपने रक्षा बंधन की शुभकामनाएं...!!!!

    ReplyDelete
  8. आपको भी रक्षां बंधन मंगलमय हो
    यूनिक तकनीकी ब्लाग

    ReplyDelete
  9. हम सब खुद में सुधार लाएं तभी समाज सुधरेगा|औपचारिकताओं से हटकर हर निर्बल की रक्षा के लिए तत्पर रहें हम तभी त्यौहार का असली उद्देश्य पूरा होगा|
    सुरेश जी, आपको भी रक्षा बंधन पर्व की शुभकामनाएं|

    ReplyDelete
  10. बहुत सार्थक प्रस्तुति..हम सभी को समाज की सोच बदलनी होगी...रक्षा बंधन की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  11. हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  12. बहुत सुंदर प्रस्तुति ...

    ReplyDelete
  13. रिश्ते के मायने आज के माहौल में बदल रहे है..हमें सवांरना होगा इस समाज को अपनी लेखनी के माध्यम से..एक बढ़िया भाव से निहित पोस्ट..धन्यवाद

    ReplyDelete
  14. बहुत सार्थक प्रस्तुति.

    ReplyDelete